ये 10 खेल आपको अपने बचपन याद जरूर दिलाएंगे

बचपन की याद दिलाने वाले 10 खेल जो अब विलुप्त होने की कगार पे हैं।

जब आप बच्चे थे तब खेल का नाम सुनते ही आपके मन में एक उमंग की लहर दौड़ पड़ती थी। आज के बच्चों के खेल बदल गए है  इंडोर खेल जैसे वीडियो गेम ने पहले वालो खेलो की जगह ले ली है। आउटडोर खेल में भी क्रिकेट,बॉलीबॉल जैसे एक आधे खेल शेष रह गए हैं।

पहले का जमाना जो आपने बचपन में जिया है  उस वक्त के खेल अपने आप में निराले और बहुत मजेदार थे। वो खेल एक दूसरे को जोड़े रखते थे। और सच में खेल की भावना से खेले जाते थे। आज चटपटी खबर में जानिए आपके द्वारा खेले गए वो खेल जो आपको अपने बचपन के दिनों की याद दिलाएंगे।

1.गिल्ली डंडा  Childhood Games (2)

गिल्ली डंडा जिसके लिए घर वाले विशेस तौर पर मना करते थे। लेकिन फिर भी शाम को एक चाल (मैच) तो हो ही जाता था।

2.पिट्ठू गरम /सितोलिया /सेवन स्टोन

Childhood Games (4)

ये एक ऐसा खेल था जिसमे सात पत्थर ऊपर नीचे रखकर उनको गेंद से गिराया जाता था। गिराने के बाद जब विपक्ष की टीम जब तक बॉल आपको मारे आपको वो सात पत्थर वापिस वैसे ही उप्पर नीचे रखने होते होते हैं।  इस खेल में रोमांच भरपूर था।

3.साँप-सीढ़ी/मोक्ष पटम

Childhood Games (3)

इस खेल में जितनी चीटिंग होती थी शायद किसी दूसरे गमे में होती होगी। सांप-सीढ़ी का एक रोचक तथ्य ये है कि इस खेल की पहली शुरुवात भारत में ही हुई थी।

4.पोशम्पा

Childhood Games (8)

इस खेल में दो लोगों को अपने हाथों को एक साथ सिर के ऊपर बंद कर एक साथ खड़े होकर एक गीत गाते हैं। ये खेल लड़कियों को ज्यादा पसंद  था।

5.खो-खो

Childhood Games (7)

यह भारत में सर्वाधिक लोकप्रिय टैग खेल में से एक है। इस खेल में 2 टीम होती हैं। जो एक पंक्ति में बैठकर इस खेल को खेलती है।

6.चौपड़

Childhood Games (1)

मना जाता है कि चौपड़ महाभारत काल में युधिष्ठिर और दुर्योधन के बीच क्झेल जाने वाला प्रसीद खेल था। जो आज वसी समय से चला आ रहा है। ये खेल आपको और अधिक कौशल बनता था।

7.किट किट/पंडि अट्टम/सात डब्बा

Childhood Games (9)

स्कूल की आधी छुट्टी में लड़कियां इस खेल को बड़े मजे से खेलती थी। घर में खेल खेलने पर उनके छोटे भाई द्वारा इसकी लकीरें मिटा दी जाती थी  काफी मजेदार होता था।

8.हाईड एण्ड शीक /आँख मिचोली

Childhood Games (10)

इस खेल में जितना जयादा बड़ा घर या छुपने का स्थान होता था उतना ही ज़्यादा मजा आता था। स्कुल की गर्मियों की छुटियों में ये खेल सबसे जसयदा चलता था।

9.गट्टे

Childhood Games (5)

ये खेल लड़कियों द्वारा खेला जाता था।

10.कंचे/गोलियाँ

Childhood Games (6)

इस खेल के बिना तो बचपन ही अधूरा लगता है। शाम को जब स्कूल के काम से फ्री होने के बाद गावं के किसी बड़े चौक या गली में खेलते थे। जिस दिन अगर कांच की पाँच गोलियाँ भी जीत कर घर लाते थे तो रात को ऐसे लगा था कि कोई बड़ी चीज जीत ली हो। और दो गोली के हारने से सारा दिन गम  लगा रहता था कि कैसे वो दो गोलियाँ हासिल की जाएँ। सच में बचपन के वो पल बड़े कीमती थे। जिनको कभी खोया नहीं जा सकता।
[display-posts category=”Viral” posts_per_page=”5″ title=”✍पढ़े 5 ताजा चटपटी ख़बरें :”]

देश दुनिया की ताज़ा चटपटी खबरों के लिए पढ़ते रहिये चटपटी खबर chatpatikhabar.in पर और हमारा  facebook  और  twitter पेज लाइक जरूर करे । पसंद आये तो शेयर ज़रूर करना ।