फ्री में पोर्न फिल्म देखिये भारत के इस रेलवे स्टेशन पर

फ्री में पोर्न फिल्म देखिये भारत के इस रेलवे स्टेशन पर – 

इस चटपटी खबर को पढ़ने के बाद आपका भी मन हो रहा है ये जानने का की भारत का कौन सा रेलवे स्टेशन है जहाँ हम फ्री में पोर्न फिल्म देख सकते है ।

जी हाँ हम बात कर रहे है दुनिया के सबसे बड़े रेलवे प्लेटफार्म गोरखपुर की । गोरखपुर की विश्व के सबसे बड़े प्लेटफार्म वाले रेलवे स्टेशन के रूप में पहचान है । यहाँ पर उत्तर पूर्वी रेलवे का हैडक्वाटर  भी है । और अब यही रेलवे स्टेशन लोगो को फ्री में पोर्न फिल्म दिखा रहा है ।

porn movie india railway station irctc free wifi

 

गोरखपुर रेलवे स्टेशन परिसर में लोग खुले आम अपने मोबाइल और स्मार्ट फोन पर गंदे वेबसाइट्स और पोर्न फिल्मे देख रहे हैं।दरअसल यहां हाल ही में गूगल और भारतीय रेलवे ने फ्री वाई-फाई सेवा शुरू की है।इस हाई स्पीड इंटरनेट सेवा ने कई प्रतिबंधित वेबसाइट्स पर बैन नहीं लगा रखा है।

इसकी वजह से रेलवे स्टेशन पर खुले आम से ऐसी वेबसाइट्स खोली जा रही हैं।एक स्थानीय समाचार पत्र में खबर आने के बाद अब रेल प्रशासन पोर्न वेबसाइट्स को बंद करने की तैयारी कर रहा है।

अभी हाल ही में रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर वाई-फाई सेवा का शुभारंभ किया था। इस सुविधा के तहत सभी रेलयात्री एक घंटे तक बिना कोई शुल्क दिये फ्री इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं। बेहतर सुविधा देने के लिए रेलवे ने जगह जगह 66 एक्सेस प्वाइंट और 35 एक्सेस स्वीच लगाए गए हैं।

परिसर में तेज गति का वाई-फाई होने के कारण अच्छी क्वालिटी का एचडी वीडियो भी देखा जा सकता है।हालाँकि, रेलवे ने ये सुविधाएं तो यात्रियों की सहूलियत के लिए दी थीं लेकिन कुछ लोग अब इस सुविधा का दुरूपयोग करने लगे हैं। कुछ लोग स्टेशन परिसर में दाखिल होकर पोर्न साइट्स का इस्तेमाल कर रहे हैं।

जंक्शन पर बढ़ने लगा है पर्यटन

भारतीय रेलवे की रेलटेल सेवा में सभी वेबसाइट्स बहुत तेजी से खुल रही हैं। पोर्न साइट्स खोलने और वीडियो अपलोड करने में भी समय नहीं लग रहा है। इसकी वजह से बहुत से शहरी नौजवान मोबाइल के साथ परिसर में पर्यटन के लिए आ रहे हैं। मोबाइल पर आपत्तिजनक सामग्री खोली जा रही है और फिलहाल इसे रोकने के लिए रेलवे ने कोई ठोस उपाय नहीं उठा रहा है।

ऐसे लगेगा प्रतिबंध पोर्न पर

गूगल ने रेलटेल के साथ मिलकर भारत के 400 रेलवे स्टेशन पर फ्री वाई-फाई की शुरुवात की है । पर जब फ्री वाई-फाई का दुरूपयोग होने लगा तो एक साफ्टवेयर के जरिए आपत्तिजनक साइट्स को प्रतिबंधित कर दिया गया है। जिन शैक्षिक संस्थानों और सरकारी दफ्तरों में इंटरनेट की सुविधा है वहां साफ्टवेयर के जरिये आपत्तिजनक सामग्री प्रतिबंधित है।

✍पढ़े 5 ताजा चटपटी ख़बरें :

देश दुनिया की ताज़ा चटपटी खबरों के लिए पढ़ते रहिये चटपटी खबर chatpatikhabar.in पर और हमारा  facebook  और  twitter पेज लाइक जरूर करे । पसंद आये तो शेयर ज़रूर करना ।