Pakistan PM Nawaz Sharif Speech in United Nations General Assembly Hindi

Pakistan PM Nawaz Sharif Speech in United Nations General Assembly Hindi

Pakistan PM Nawaz Sharif Speech in United Nations – नवाज़ शरीफ ने भारतीय सेना पर मानवाधिकार हनन और एक्ट्रा ज्यूडिशिय किलिंग का आरोप लगाया. इसके साथ ही सुरक्षाबलों से एनकाउंटर में मारे गए आतंकी बुरहान वानी को युवा नेता करार दिया और इसे कश्मीरी इंतिफादा (कश्मीरी विरोध) का नाम दिया.

नवाज़ शरीफ ने कहा कि भारतीय सेना ने कश्मीर में बच्चों महिलाओं को मारा है इसकी स्वतंत्र जांच होनी चाहिए और कश्मरी से कर्फ्यू हटना चाहिए.

उरी हमले के बाद भारत के कड़े रुख से घबराए नवाज़ शरीफ ने यूएन में अपने भाषण के दौरान खुदके परमाणु संपन्न देश की धौंस दी.

शरीफ ने कहा, “हम एक परमाणु शक्ति संपन्न देश हैं लेकिन सभी संधियों और समझौतों का सम्मान करते हैं.”

Pakistan PM Nawaz Sharif Speech in United Nations General Assembly Hindi

Pakistan PM Nawaz Sharif Speech in United Nations General Assembly Hindi

पाक़िस्तान प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ का संयुक्त राष्ट्र सभा में भाषण हिंदी में

आतंकवाद पर मुंह चुराने वाले नवाज़ शरीफ ने एक बार फिर कश्मीर मुद्दे पर दुनिया को भटकाने की कोशिश की और अपना रोना रोया. नवाज़ शरीफ ने कहा, भारत और पाकिस्तान के बीच तब तक अमन नहीं हो सकता, जबतक कश्मीर मुद्दे का हल नहीं निकाल लिया जाता.

भारत में आतंकी भेजने वाले पाकिस्तान ने बातचीत की वकालत की है और कहा कि पाकिस्तान भारत से शांतिपूर्ण रिश्ता चाहता है. इस दिशा में उसने लंबी कोशिश की है. नवाज शरीफ का कहना था कि बातचीत दोनों देशों के लिए फायदेमंद है.

घड़ी की सुई कहां से कहां चली गई है और झेलम नदी का पानी काफी बह चुका है, लेकिन पाकिस्तान कश्मीर के मुद्दे पर शेखी बघारने से बाज़ नहीं आ रहा है और उसने कश्मीर में जनमत संग्रह की मांग की.

हालांकि, नवाज़ शरीफ ने उरी हमले का जिक्र नहीं किया, लेकिन आतंकवाद पर अपनी पीठ जरूर ठोकी. नवाज़ शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान दुनियाभर में आतंकवाद के खिलाफ अभियान का हिस्सा रहा है और अपने देश में आतंकवाद के खिलाफ जर्ब-ए-अज़्म अभियान भी चलाया.
नवाज़ शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान खुद आतंकवाद का शिकार है और उसे सकड़ों जानें गंवाई हैं.

भारत के जम्मू-कश्मीर के उरी में हुए हमले के बाद नवाज़ शरीफ का ये भाषण काफी अहम है. उरी हमले के बाद पाकिस्तान चारों तरफ से घिरा हुआ है.

Read Here : India’s Reply To Nawaz Sharif Speech

Pakistan PM Nawaz Sharif Speech in United Nations General Assembly Hindi

Pakistan PM Nawaz Sharif Speech in United Nations General Assembly

India has unequivocally condemned Pakistan Prime Minister Nawaz Sharif’s discourse at the United Nations General Assembly, in which he raked up the Kashmir challenges, as well as hailed Hizbul Mujahideen fear based oppressor Burhan Wani.

Tending to the media, junior remote pastor MJ Akbar said, “It is stunning that a pioneer of a free country can laud a self-pronounced fear monger (Burhan Wani). This is self-implication by Pakistan.”

Reacting to Mr Sharif’s case that Pakistan has “gone the additional mile and over and over offered exchange”, Mr Akbar said, “We haven’t seen the main mile, where is the topic of the additional mile?” Pakistan, he included, needs discourse while “grasping a weapon”. “Talks and firearms don’t go together.”

Pakistan PM Nawaz Sharif Speech in United Nations General Assembly

Pakistan was prepared to converse with India, however pointed the finger at India for forcing “inadmissible” conditions. He additionally raked up the dissents in Kashmir and hailed Burhan Wani, who was executed on July 8, as a pioneer of a “Kashmiri intifada”.

“Pakistan needs peace with India,” he said in a 20-minute discourse. “We have gone the additional mile and over and over offered exchange. India has forced unsuitable conditions.”

Mr Sharif invested a large portion of his energy chatting on Kashmir and India. “Talks are no support to Pakistan. They are in light of a legitimate concern for both and key to determine the Jammu and Kashmir debate and stay away from acceleration,” he said.

When strains with India are ascending over the dread assault in Uri, Mr Sharif said, “The United Nations overlooks rising pressures in South Asia at its own particular hazard. Pakistan is not occupied with weapons contest but rather we can’t disregard neighbors’ arms develop and will take whatever measures important to counter their arms develop”.

Recently, in spite of Mr Sharif’s claims for intercession, UN Secretary-General Ban Ki-moon made no reference to Kashmir in his last deliver to the General gathering. He touched upon a plenty of worldwide issues incorporating the emergency in Syria, the Palestinian issue, the circumstance in Myanmar and Sri Lanka, the exile and vagrant developments.

LEAVE A REPLY